Electric board में use होने वाले componants के list

List of Home wiring electric board componants


जब कभी भी आप Home wiring करवाना चाहते हैं या फिर उसमें हुयी कुछ खराबी को ठीक कराना चाहते हैं तो इसके लिए electrical master आपसे अच्छे खासे पैसे वसूल सकते हैं। लेकिन यदि आपमें जरा सा भी हुनर होगा तो आप खुद से ही wiring से related अपने काम को कर सकते हैं।


लेकिन हम आपको suggest करेंगे कि कोई भी काम start करने से पहले उसके बारे में एक बार अच्छी तरह से जरूर सोच-समझ लें। ऐसा नहीं है कि wiring आप खुद से नहीं कर सकते हैं, आप बिल्कुल ही खुद से ही home wiring और इससे related problems को सही करने का काम कर सकते हैं। लेकिन ये काम करने से पहले आपको इसके बारे में पूरी जानकारी जरूर होनी चाहिए।

तो, wiring के लिए सबसे पहले आपके पास इसके लिए जरूरी सारे componants जरूर available होनी चाहिए। यदि आप खुद से electric board बनाना चाहते हैं लेकिन आपको ये पता नहीं है कि इसके लिए किस-किस सामानों की जरूरत पड़ेगी और आपको कौन से सामान खरीदने चाहिए तो आज का हमारा ये post जरूर पढ़ें, इसमें आज हम यही बताने जा रहे हैं कि electrical board में कौन-कौन से componants के use किये जाते हैं।

👤 Home wiring में इस्तेमाल होने वाले componants के list पूरी details के साथ।
 

 Fuse ⇢ हर एक ideal electric board में fuse का रहना बहुत ही जरूरी होता है। Fuse का काम होता है पहले से fix किये हुए value से ज्यादा current को board में जाने से रोकना। यदि कभी भी किसी इंसान को shock लग जाता है या किसी भी तरह की कोंई short circuit होती है तब उस time हद से ज्यादा current की खपत होने लग जाती है जिसे कि fuse सहन नहीं कर पाता है और उसके अन्दर लगा पतला सा wire जल जाता है जिससे कि board को supply मिलना बंद हो जाता है और हमारा ज्यादा loss नहीं होता है।

आमतौर पर हमारे बिजली board के fuse की एक और सबसे बड़ी खासियत ये होती है कि ये हमारे लिए circuit का भी काम करता है। यानि कि आप जब चाहें बिना electric pole पर से wire को उतारे या फिर बिना changer को गिराए आप अपने किसी खास board का यदि supply बंद करना चाहें तो fuse को board से खींचकर अलग कर दें जिससे कि उस board से लिए गए सारे connection को supply मिलना बंद हो जायेगा और फिर आप उस board में जो चाहें बदलाव कर सकते हैं। 

आमतौर पर जब हमारे board के कोई भी part जैसे कि bulb या fan या फिर external socket काम करना बंद कर देते हैं तो इस समय fuse का ये गुण हमारे बहुत ही काम आता है।

 • AC को DC में convert करके उसे filter कैसे करें ?
 • Home wiring में Internal और External connections में क्या अंतर हैं ?
 • Gmail Vacation Responder को Enable क्यों और कैसे करें?

2 ≻ Indicator ⇢ ये भी हमारे board का एक बहुत ही most important part है। Electric board में इसका इस्तेमाल करना बहुत ही useful होता है। ये Indicator वास्तव में सिर्फ एक deam light करने वाला bulb मात्र है। लेकिन बिजली रहने पर ये इतना रोशनी जरूर दे देता है कि हमें आसानी से इस बात का अहसास हो जाता है कि अभी बिजली आया हुआ है या नहीं। असल में इसका use होता ही सिर्फ बिजली के उपस्थिति या अनुपस्थिति का पता लगाने के लिए होता है। इससे फायदा ये होता है कि बिजली की उपस्थिति का पता लगाने के लिए हमें बार-बार दूसरे उपकरण को on नहीं करना पड़ता है।

3 ≻ Switch ⇢ जब हमारी home wiring पूरी हो जाती है तब normal स्थिति में हर उस time हमारे घर के हर एक board में current मौजूद होती है जब बिजली विभाग द्वारा हमारा supply on किया हुआ होता है। तो ऐसे में जाहिर सी बात है कि यदि हम अपने किसी भी उपकरण को direct ही board में आ रहे supply से connect कर देंगे तो हमारा वो gadget हर उस समय on रहेगा और बिजली current का misuse करता रहेगा जब हमारे घर में बिजली की supply आई हुयी होगी और हमें उस उपकरण की जरूरत नहीं होगी। 

अब example लीजिये एक bulb की। यदि हम board से bulb को direct ही connect कर देंगे तो वो night में तो जलकर उजाला करेगा ही लेकिन साथ ही दिन में भी बेकार में ही जलता रहेगा जिससे कि हमारे बिजली bill में बढ़ोत्तरी होती रहेगी।

इसी समस्या को देखते हुए electronics में एक componant को develop किया गया जिसका नाम है Switch. इसका काम बस इतना ही है कि जब हम इससे किसी gadget को connect करते हैं तब हम जब चाहें switch को off करके उस gadget में जा रहे supply को रोक सकते हैं जिससे कि फिजूलखर्ची में कमी होगी और हमारा बिजली bill भी बहुत ही save होगा।

 5 pin socket   इस socket का use external device या gadget ( उपकरण ) के connection के लिए किया जाता है। इस socket में connection के लिए 5 point बने होते हैं। एक point सबसे ऊपर होता है जिसमें भू-तार यानि कि earthing को connect किया जाता है जो कि आपातकालीन स्थिति में हमारी safety और सुरक्षा के लिए होता है। यदि इस pin का connection नहीं भी किया जाये तो भी हमारे सारे device निल्कुल ही सही से work करेंगे। किसी भी 5 pin socket में भू-तार यानि कि ऊपर वाले point का hole बाकि के point के hole के मुकाबले बहुत ज्यादा गहरा होता है। External और Internal, device और connection के बारे में ज्यादा विस्तार से जानने के लिए हमारा ये पोस्ट जरूर पढ़ें.....

 • Home wiring में Internal और External connections क्या हैं ?

इसके बाद भू-तार वाले point के बाद इसमें 2 line में क्रमशः 2 - 2 और hole बने होते हैं जिनमें से horizontal ( उर्ध्वाधर ) क्रम में हम सुविधानुसार किसी भी 2 hole में अपने device के plug को insert कर सकते हैं। यहाँ इस बात का ध्यान जरूर रखियेगा कि भू-तार वाले point का लाभ आपको तभी मिलेगा जब आपके insert किये जाने plug में भी इसके लिए एक pin लगा हुआ हो। यानि कि यदि आपके device के plug से यदि 3 pin निकला हो तभी आपका भू-तार वाला system work करेगा और आपको extra सुरक्षा मिलेगा। भू-तार के बारे में ज्यादा अच्छे से समझने के लिए आप हमारे नीचे वाले पोस्ट पढ़ सकते हैं.....

• Earthing ( भू-तार ) क्या है और ये कैसे हमारी सुरक्षा करता है ?


5 ≻ 2 pin socket  Boart में ये socket भी 5 pin socket की ही तरह external connection के लिए ही लगाया जाता है। लेकिन इसमें सिर्फ उसी उपकरण को plug किया जा सकता है जिसके plug में सिर्फ 2 connection pin ही निकले हुए होते हैं। यानि कि सामान्य तौर यदि आप इस socket में press iron को plug करना चाहेंगे तो ऐसा नहीं कर पाएंगे क्योंकि iron में 3 connection pin निकले हुए होते हैं जो कि सामान्य तौर पर 2 pin वाले में socket में plug हो ही नहीं सकते। इस socket का इस्तेमाल ज्यादातर charger, television, set top box, etc को plug करने में किया जाता है क्योंकि ऐसे उपकरणों में सिर्फ 2 ही connection pin होते हैं जो कि इस socket में  plug हो जाते हैं।

 • Home Wiring में इन Top 10 common बातों का जरूर रखें ख्याल
 • 7805 IC से 12 वोल्ट DC को 5 वोल्ट DC में कैसे convert किया जाता है?
 • Strong और टिकाऊ sholdering कैसे किया जाता है?


 Board bulb Holder  ये तो आप जानते ही होंगे कि night में घर को उजाला करके के लिए हमारे wiring में bulb को भी लगाया जाता है। लेकिन इस bulb को लगाने के लिए एक holder की जरूरत पड़ती है ताकि बाद में जब भी कभी bulb fuse हो जाए या किसी तरह से खराब हो जाए तो एक आम उपभोक्ता भी उसे खुद से change कर सकें। बहुत सारे लोग तो यूं ही एक local holder अपने छत में कहीं लटका देते हैं लेकिन यदि आपके घर में भी board लगा हुआ है तो मेरी तो यही सलाह है कि आप इस holder को अपने board में ही लगवा लें। इसके लिए आपको अलग से एक board वाला bulb holder खरीदना पड़ेगा।

 Fan Regulator  कभी - कभार ऐसा भी देखा गया है कि हमारे आ-पास का वातावरण बहुत ही अच्छा होता होता है लेकिन हमारे room में हमें गर्मी का अहसास होता है। ऐसे में हम अपने room में पंखा चला लेते हैं। लेकिन पंखा चलने के बाद हमें ठंडक महसूस होने लगती है। तो ऐसे में हमारे पास 3 ही विकल्प होते हैं, या तो घर से बाहर रहकर अच्छे मौसम का आनंद लें, या फिर room में बिना पंखा चलाये गर्मी में ही रहे और या फिर चाहें तो पंखा चलाकर ठंड में रहे।

आमतौर पर ये तीनों विकल्प हमारे लिए सही नहीं होते हैं। हमें तो इससे कुछ हटकर चौथे विकल्प की जरूरत होती है। तो इसीलिए electronics में एक ख़ास उपकरण Fan Regulator का इस्तेमाल किया गया है। इसे हमारे electric board में ही लगा दिया जाता है और इसकी विशेषता ये है कि आप इससे अपने पंखे को जिस speed में चलाना चाहेंगे आपका पंखा उसी speed में चलेगा। इतना ही नहीं, इसके और भी बहुत सारे फायदे हैं जो हमारे नीचे वाले post को पढ़कर आपको अच्छे से पता चल जायेगा .....

 • Fan Regulator क्या है और हमारे home wiring में इसका क्या महत्त्व है ?


8 ≻ Board Ply  ये एक rectangular ( आयताकार ) शीट होता है और ऊपर जितने भी components के list दिए गए हैं वो सारे इसी प्लाई में उचित कटिंग करके लगाये जाते हैं। ये शीट बहुत तरह के आते हैं। ये लकड़ी के भी आते हैं और मजबूत ply के भी आते हैं। मेरी मानें तो प्लाई वाला ही शीट खरीदें।

मार्केट में यह 2 तरह से आता है। एक तो पूरा-का-पूरा एकदम ठोस और प्लेन होता है जिसमें आपको आपके जरूरत के अनुसार काट-छांट करने की जरूरत पड़ती है। लेकिन इसमें आपके बहुत समय loss हो सकते हैं। इसलिए आप चाहें तो market से दूसरी तरह के ply खरीद सकते हैं। उसकी विशेषता ये होती है कि उसमें पहले से ही आपके जरूरत को ध्यान में रखकर जरूरी काट-छांट किये हुए होते हैं। बस उसे खरीदें और उसमें अपने जरूरत के componants को लगाकर कास दें। इससे आपका बहुत सारा समय और मेहनत दोनों बचेगा।

Wire  जब आप ply में सारे सामान को कस देंगे तब उन सभी को आपस में connection करने का समय आता है और इसके लिए wire की जरूरत पड़ती है। यहाँ एक बात का ख्याल जरूर रखें कि आप अपने wiring में चाहे जैसा भी wire इस्तेमाल करें लेकिन board के अन्दर के wiring में हमेशा ही कम-से-कम गेज और copper के तार का इस्तेमाल करें।

इतना ध्यान रहे कि wire जितने कम गेज के होंगे वो उतने ही मोटे होंगे और ज्यादा current को सहने की क्षमता रखने वाले होंगे। Board के वायरिंग में सिर्फ-और-सिर्फ single wire का ही इस्तेमाल करें। Double wire तार का इस्तेमाल कभी न करें जो कि लत्ती जैसे होते हैं और उनमें एक साथ 2 वायर लगे हुए होते हैं।

 • Electronics Relay क्या है और इसका use किस काम में होता है?
 • Transformer क्या है और इसका काम क्या है?
 • Electric Press iron क्या है और ये कितने तरह का होता है ?


10   लकड़ी  जब आप ply में सारे सामन को फिट कर देंगे तब समय आएगा board को आपके घर के दीवार में सेट करने का। इतना ध्यान रहे कि बोर्ड के प्लाई वाला भाग दीवार में नहीं ठोका जाता है। दीवार में जो ठोका जाता है उसे लकड़ी कहा जाता है।

11  कांटी  Board के लकड़ी को दीवार में फिट करने के लिए कांटी की जरूरत पड़ती है। एक board में कम-से-कम 4 कांटी का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। और ये कांटी कम-से-कम 2 इंच का जरूर होना चाहिए।


12  Plastic wall plug  अक्सर देखा गया है कि जब बोर्ड के लकड़ी को दीवार में थोक दिया जाता है तो कुछ ही दिनों बाद वो हिलने लग जाता है और दीवार से निकल भी जाता है। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि आपके दीवार में इस्तेमाल किये गए मसाले बहुत ही नरम और कमजोर होते हैं और साथ ही ये भी हो सकता है कि आपके द्वारा ठोके जा रहे कांटी दीवार में टिक नहीं पाते होंगे।

तो इस समस्या को देखते हुए Plastic wall plug का निर्माण किया गया है। ये एक प्लास्टिक होता है जिसमें कांटी लगाने के बाद बहुत ही मजबूती से बैठ जाता है। इस plastic को तो सबसे पहले ड्रिलर से दीवार में छेद करके उसमें फिट कर दिया जाता है। ये प्लास्टिक कुछ इस तरह से बना होता है कि एक बार दीवार में फिट हो जाने के बाद ये आसानी से निकल नहीं पाता है और बोर्ड बहुत बहुत ही विश्वसनीय तरीके से फिट हो जाता है।

13  Scroo  जब आप प्लाई में सारे सामान को फिट कर देंगे और लकड़ी को दीवार में फिट कर देंगे तब बारी आयेगी लकड़ी और प्लाई को आपस में जोड़ने की। तो, इसके लिए करीब आधे इंच के scroo की जरूरत पड़ती है। एक बोर्ड में कम-से-कम 4 scroo का इस्तेमाल जरूर होना चाहिए।

 • Ceiling Fan के coil की binding से earning कितनी होती है?
 • पंखे से आते boring आवाज को कैसे दूर करें?
 • Mobile के बैटरी को डायरेक्ट charger से चार्ज क्यों नहीं करना चाहिए?




तो दोस्तों, आपको हमारा ये पोस्ट कैसा लगा comment करके हमें जरूर बताएं और अपने friends के साथ social media पर इसे share जरूर करें।


EmojiEmoji