Electric board में fan regulator का connection कैसे किया जाता है?


Home wiring fan regulator speed controler gadget


बहुत सारे बिजली उपभोक्ता ऐसे होंगे जो Home Wiring करवाते वक़्त अपने electric board में fan regulator नहीं लगवाते होंगे। शायद ही कोई ऐसे users होंगे जिन्हें इसके बारे में पता नहीं है। सभी इससे होने वाले लाभ और बचत के बारे में भी जानते होंगे लेकिन फिर भी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो कि किसी भी वजह से अपने wiring में fan regulator नहीं लगवा पाते हैं। लेकिन दोस्तों, यदि आप भी इन लोगों की list में हैं तो आपको हमारा ये post जरूर पढना चाहिए लेकिन यदि आप इन लोगों के list में नहीं हैं तो भी अपनी जानकारी को बढ़ने के लिए इसे जरूर पढ़ें। आज हम इसमें Fan Regulator के बारे में पूरी details के साथ बताते हुए इसके लाभ और हानि के बारे में भी बता रहे हैं.....


👤 Fan Regulator क्या है और इसका काम क्या है?


Fan regulator एक ऐसी युक्ति या उपकरण है जिसकी सहायता से हम बड़ी ही आसानी से अपने पंखे के speed को नियंत्रित कर सकते हैं। बहुत समय ऐसा होता है कि हमारे area का वातावरण बहुत ही अच्छा और ठंडा होता है लेकिन जब हम अपने room में जाते हैं तो हमें कुछ गर्मी का अहसास होता है। तो ऐसे में जाहिर सी बात है कि आप अपने room के पंखे को चलाएंगे। लेकिन जब आप पंखा चला देंगे तो आपको ठण्ड महसूस होने लगेगा और फिर आपको पंखे को बंद करना पड़ जायेगा। 

लेकिन दोस्तों, समस्या फिर वही आ जाती है कि यदि पंखा on नहीं करेंगे तो गर्मी लगेगी और on करने के बाद यदि off नहीं करेंगे तो ठण्ड लगेगी। तो ऐसे में करें तो क्या करें?

ये कोई बड़ी समस्या नहीं है। आपके इस समस्या के समाधान के लिए electronics में already पहले से ही एक खास उपकरण की खोज हो चुकी है। ये उपकरण और नहीं बल्कि fan regulator ही है। ये हमारे wiring के electric board में लगाया जाता है और इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है कि यदि आप अपने wiring में इसे लगाते हैं तो इससे अपने पंखे की speed ( गति ) को अपने अनुसार नियंत्रित कर सकते हैं। आपको जितनी हवा की जरूरत होगी आप अपने अपने पंखे को उसी के अनुसार speed में चला सकते हैं।



👤 Fan Regulator कैसे काम करता है और इसकी बनावट कैसी होती है ?


अधिकांशतः fan regulator की बनावट आयताकार होती है। इसमें से 2 connection wire निकले होते हैं जिसे पंखे के साथ board में series में लगाया जाता है। Board में इसका internal connection किया जाता है।

अधिकाँश fan regulator में पंखे की गति को control करने के 1 से लेकर 5 तक कुल मिलाकर 5 विकल्प होते हैं। साथ ही इसके लिए एक regulator भी लगा हुआ होता है जिसे घुमाकर पंखे की गति को कम ज्यादा किया जा सकता है। 

यदि इस regulator की नॉब 5 पर होगी तो पंखा full स्पीड में चलेगा यानि कि उतने ही volt की स्पीड स्पीड में चलेगा जितना हमारे बिजली में volt होगा। लेकिन वहीँ रेगुलेटर के नॉब को 5 नंबर के point से हटाकर ज्यों-ज्यों कम नंबर के point पर करते जायेंगे, पंखे की स्पीड उतनी ही घटती जाएगी। और इस तरह से सबसे अंत में 1 नंबर के point पर पंखे की speed सबसे कम रह जाएगी।

इसके साथ ही इसमें एक off का भी विकल्प होता है जिसपर रेगुलेटर को नॉब को लाने पर पंखा पूरी तरह से चलना बंद हो जाता है। 

 • पंखे से आते boring आवाज को कैसे दूर करें?
 • अच्छी earning के लिए कर सकते हैं electronics के ये काम।
 • Video और audio को free में खुद से mix कैसे करें?



👤 Fan Regulator की technical बनावट कैसी होती है ?



यदि आप electronics में जरा सी भी रुचि रखते हैं और ये नहीं जानते कि आखिर fan regulator पंखे की स्पीड को नियंत्रित कैसे करता है तो जाहिर सी बात है कि इसे जरूर जानना चाहेंगे। और यदि आप जानना चाहते हैं तो आपको मायूस होने की जरूरत नहीं है, यहाँ हम इस बारे में पूरी details के साथ बताने जा रहे हैं। इसे अच्छी तरह से समझने के लिए आप नीचे के image को देख सकते हैं जिसमें हमने रेगुलेटर के आंतरिक कनेक्शन को समझाने की पूरी कोशिश की है।


Home wiring fan speed controler regulator electronics connection diagram

इस इमेज में आप स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि किस तरह से पंखे और regulator को series connection करके उसमें 220 volt AC का supply दिया गया है।

साथ ही इस इमेज में आप regulator के अन्दर की संरचना भी देख सकते हैं। इसके अन्दर का connection ज्यादा मुश्किल नहीं है। सबसे पहले तो इसके एक connection point को सीधा regulator के नॉब से जोड़ दिया गया है और फिर दूसरा connection से एक resistance ( प्रतिरोध ) को जोड़ा गया है और इस प्रतिरोध का दूसरा सिरा रेगुलेटर के 5 नंबर point से जोड़ दिया गया है। ऐसे में जब भी रेगुलेटर का नॉब पांचवें point पर होगा तब इस regulator से पूरा current पास हो जायेगा क्योंकि इस स्थिति में रेगुलेटर का दोनों connection wire आपस में ही connect हो जाता है जिस वजह से current सीधे बायपास होने लगता है। इसी वजह से 5 नंबर पर पंखा फुल स्पीड में चलता है। Resistance के बारे में details के साथ जानने के लिए आप हमारे नीचे वाले पोस्ट को पढ़ सकते हैं। 

  • Resistance या प्रतिरोध क्या है और इसका काम क्या है ?


जब regulator के नॉब 4 नंबर पर लाया जाता है तब पंखे की स्पीड थोड़ी कम हो जाती है क्योंकि ऐसे में रेगुलेटर के दोनों wire के बीच प्रतिरोध बन जाता है। और फिर इसी तरह से बाकी के अन्य सभी point के साथ भी यही होते है। ज्यों-ज्यों रेगुलेटर के नॉब को कम नंबर के point पर किया जाता है, रेगुलेटर के दोनों connection wire के बीच हर बार प्रतिरोध बढ़ता जाता है जिससे कि पंखे की speed कम होती जाती है।

जब रेगुलेटर का नॉब off वाले point पर किया जाता है तब पंखा नहीं चलता है क्योंकि इस point में किसी भी प्रतिरोध या wire को connect नहीं किया जाता है जिस वजह से पंखे का circuit बंद हो जाता है और उसे current नहीं मिल पाता है।


 • Press iron क्या है और ये कितने तरह का होता है ?
 • Ceiling fan के coil की binding करने से कितनी earning होती है ?
 • Relay क्या है और electronics में इसका क्या काम है ?



👤 Ceiling Fan के regulator में किस मान का Resistance का इस्तेमाल किया जाता है ?



रेगुलेटर बहुत तरह के आते हैं और उनके अन्दर बहुत तरह से प्रतिरोधक का इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर सामान्य प्रतिरोधक का इस्तेमाल बहुत ही कम किया जाता है। हमारे घरों में जिन fan रेगुलेटर का इस्तेमाल किया जाता है उनमें प्रतिरोधक के जगह पर spring का इस्तेमाल किया जाता है। ये स्प्रिंग कोई आम स्प्रिंग नहीं होता है। इस स्प्रिंग को किसी कोर पर अच्छे से और मजबूती से लपेट दिया जाता है और उनमें से 5 कनेक्शन point निकाल दिया जाता है और उसे रेगुलेटर के नॉब में जोड़ दिया जाता है।

इस स्प्रिंग का कुल प्रतिरोध लगभग 30 Ω होता है। और प्रत्येक 2 connection point के बीच का प्रतिरोध लगभग 6 Ω होता है। इसमें स्प्रिंग इस्तेमाल करने का फायदा ये होता है कि इस्तेमाल होते वक्त ये कम गर्म होता है जिससे कि इसका life बहुत ही बढ़ जाता है। और साथ ही resistance के मुकाबले इसकी कीमत भी कम पड़ती है और इसकी सहनशक्ति ( Watts ) भी ज्यादा होती है।



👤 Fan regulator का इस्तेमाल किस-किस पंखे में किया जाता है ?


इसका इस्तेमाल सिर्फ-और-सिर्फ ceiling ( सीलिंग ) fan में ही किया जाता है। क्योंकि दूसरे पंखे जैसे stand fan, table fan इत्यादि इन सभी में पहले से ही इनका अपना रेगुलेटर लगा हुआ होता है। चूंकि इन पंखे को ground ( जमीन ) पर रखकर ही इस्तेमाल किया जाता है इसलिए इसके रेगुलेटर को आसानी से इस्तेमाल करके पंखे की स्पीड को कम या ज्यादा किया जा सकता है।

जबकि वहीँ यदि बात करें ceiling fan की तो चूंकि वो छत से लटका दिया है इसलिए बार-बार पंखे से रेगुलेटर का इस्तेमाल करने में बहुत ही मुश्किल और खतरनाक होगा। क्योंकि पंखे की height हमारे height से बहुत ही ज्यादा हो जाती है। यही सबसे बड़ी वजह है कि ceiling fan में पहले से रेगुलेटर नहीं लगाया जाता है। इसे घर के board में ही फिट किया जाता है क्योंकि ऐसे में इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान हो जाता है।

 • Home wiring कराते समय इन बातों का रखें ध्यान।
 • 7805 IC से 12 वोल्ट को 5 वोल्ट में कैसे बदलें ?
 • Strong और best शोल्डिंग कैसे करें ?



👤 Fan Regulator से सम्बंधित कुछ और important बातें।



1 ≻ इसके इस्तेमाल करने से आप पंखे से अपने मनपसंद स्पीड में हवा प्राप्त कर सकते हैं।

2 ≻ Electronics के लगभग सारे उपकरण 220 volt ac पर काम करने लायक बनाये जाते हैं। लेकिन कभी-कभार ऐसा भी होता है कि हमारे घर में इससे ज्यादा भी voltage भी आ जाते हैं। तो ऐसे में हमारे सभी इस्तेमाल होने वाले उपकरण के जल जाने के chance बढ़ जाते हैं। ऐसे में यदि आप fan regulator का इस्तेमाल कम-से-कम point पर करेंगे तो आपका पंखा बिलकुल सुरक्षित रहेगा।

3 ≻ आप चाहें तो 100 watts तक के किसी भी उपकरण को fan regulator के माध्यम से उपयोग कर सकते हैं। ऐसे में ज्यादा वोल्टेज रहने पर भी आपके उपकरण के जलने के उम्मीद कम हो जायेंगे।

4 ≻ Fan Regulator सिर्फ-और-सिर्फ original वोल्टेज को कम करता है। इसका मतलब ये हुआ कि आप पंखे के स्पीड को regulator की सहायता से उसके original स्पीड की तुलना में सिर्फ कम कर पाएंगे। यदि आपके बिजली में कम वोल्टेज है और आप पंखे के स्पीड को बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको staiblizer या transformer का ही इस्तेमाल करना होगा।

5 ≻ जब भी आप रेगुलेटर का इस्तेमाल करते हैं तब पंखे को original करंट से कम ही करंट मिल पाता है। तो ऐसे में जाहिर सी बात है कि meter में unit कम उठेंगे और आप Fan regulator से अपने बिजली बिल में भी बचत कर सकते हैं। 

 • AC current को DC में कैसे बदला जाता है ?
 • Comuter और Laptop में हिंदी में कैसे typing किया जाता है ?
 • Total Video Converter के इन features के बारे में क्या आप जानते हैं ?



तो दोस्तों, आपको आज का हमारा ये पोस्ट कैसा लगा हमें comment करके जरूर बताएं और इसे अपने friends के साथ share जरूर करें और हमारे ऐसे ही अच्छे पोस्ट पढने के लिए हमें subscribe जरूर कर लें और नियमित हमारे website पर visit करते रहे।

2 comments

Meri post google search me nhi aa rhi hai

Pooja ji, maine bahut se blog par aapka comment padha hai. Aap please dhairya se kaam lijiye. Koi bhi new blog sidhe hi search mein nahin aa jata hai. Iske liye aapko mehnat karni hogi. Aap sabse pahle to unique post likhein, matlab ki aisa post jo kiinternet par na ke barabar ho aur poori tarah se aapke talent se likha gaya ho. Aap niche ke link ko open karke ye post padhiye aur ismein batayi gayi tips ko follow karein, aapki ranking mein bahut sudhar aa jayega.....

http://www.internethindime.com/search-console-par-apna-blog-kaise-add-kare/

http://www.internethindime.com/post-ko-google-search-me-jaldi-kaise-laye/


EmojiEmoji