Internal और External connections क्या हैं ?

Details of Internal and External connection in home wiring


बहुत सारे लोग ऐसे होंगे जो electronics और technology में interest रखते हैं और इससे जुड़े नयी जानकारियाँ जानने को उत्सुक रहते हैं। तो यहाँ हम इन्हीं सब topic पर गहराई से post share करते हैं और पूरी कोशिश करते हैं कि हमारे users को इन सम्बन्ध में छोटी-से-छोटी जानकारी भी पूरी details के साथ मिले जिससे कि वो electronics के काम को ज्यादा interest के साथ कर सकें। Electronics में भी एक ऐसा ही topic है Internal और External connection.


ज्यादातर लोगों को इस बात की पूरी जानकारी नहीं होती है। उन्हें इन दोनों connections के बारे में न तो कुछ पता होता है और न ही इनके बीच difference के बारे में ही कुछ पता होता है। यदि आपको भी इसके बारे में ज्यादा पता नहीं है तो हमारा ये post लास्ट तक जरूर पढ़ें।



👤 Internal और External connections क्या हैं और इन दोनों में क्या difference हैं?

Internal connection क्या हैं? 

जब हमारी home wiring complete हो जाती है तब हमारे board में ही कुछ उपकरण जैसे कि ceiling fan, bulb etc को connect कर दिया जाता है और उसे हम सिर्फ board में लगे switch के द्वारा ही on या off कर सकते हैं। तो ऐसे gadget के connection को internal connection कहा जायेगा क्योंकि इसका connection direct ही board से किया हुआ होता है और ये एक ही जगह पर हमेशा के लिए लगा दिए जाते हैं। 

यदि कोई आम इंसान या आम users इसके स्थान को बदलना चाहेंगे तो ये काम उनके लिए बहुत ही मुश्किल होगा और साथ ही यदि उन्हें electronics का ज्ञान न हो तो ये काम उनके लिए danger भी साबित हो सकता है। इन सभी बातों को देखते हुए किसी भी users को wiring करते समय ही इस बात का decide कर लेना चाहिए कि उन्हें कौन-सा उपकरण internal और कौन सा external connection के लिए खरीदना चाहिए।

    हमारे ये post भी जरूर पढ़ें.
 ・ Electronics Relay क्या है और इसका use किस काम में होता है?
 ・ Transformer ( ट्रांसफार्मर ) क्या है और ये कितने तरह का होता है?
 ・ Home Wiring करते वक़्त इन Top 10 common बातों का जरूर रखें ख्याल


External connection क्या हैं? 

बहुत सारे gadget ऐसे भी होते हैं जिनका use हम हमेशा एक जगह न करके बहुत सारे जगहों पर करते हैं। इसके सबसे अच्छे example आप charger, television, set top box, iron, stand fan etc का ले सकते हैं जिसे कि हम एक जगह use न करके उसे अलग-अलग जगहों पर use करते हैं। 

इन सारे gadget को हमारे घर के wiring में कोई role नहीं होता है। इसे जब चाहें खरीद सकते हैं और आराम से use कर सकते हैं क्योंकि इसे board में connect करने का झंझट ही नहीं होता है। इसे हमारे board में लगे हुए 5 pin या 2 pin socket के साथ plug कर दिया जाता है और तब ये अपना काम करने लगते हैं। इसका internal connection न करने का main वजह ये है कि इसका इस्तेमाल एक जगह न करके बहुत जगह पर किया जाता है। लोग हमेशा इसे अलग-अलग room में setting करते रहते हैं।

तो ऐसे में यदि इसका connection internal तरीके से कर दिया जाये तो हमें बहुत बड़ी समस्या हो सकती हो सकती है और बार-बार इसके connection को board से अलग करना पड़ सकता है जो कि एक आम इंसान के लिए बहुत ही मुश्किल और जोखिम भरा काम होता है।

तो हमारे इन्हीं समस्या को देखते हुए electronics में एक तकनीक को develop किया गया plug socket के रूप में। ये एक socket होता है जिसे board में इस तरह से fit कर दिया जाता है कि इसका connection और input वाला भाग बाहर की ओर आ जाता है जिसमें हम अपने किसी भी external device के plug को connect कर सकते हैं और उसका पूरी तरह से लाभ उठा सकते हैं।


Final Definition  हमारे घर के wiring में जिस भी उपकरण को सीधे ही board से connect कर दिया जाता है और उसका स्थिर रूप से एक ही जगह पर इस्तेमाल होता है वो सारे उपकरण Internal कहे जा सकते हैं और wiring में उनके किये गए इस connection को internal connection कहा जायेगा।

लेकिन यदि कोई उपकरण एक जगह पर इस्तेमाल किया जाने के बजाये बार-बार अलग स्थानों पर ले जाकर उसका इस्तेमाल किया जाए तो wiring में उसके connection को external connection कहा जायेगा। ऐसे उपकरण के connection wire के साथ एक plug लगे हुए होते हैं जिसे कि किसी भी board में लगे socket में plug करके इस्तेमाल किया जा सकता है।

 ・ Mobile phones के battery आखिर बार-बार क्यों होते हैं खराब?
 ・ Electric Press iron क्या है और ये कितने तरह का होता है ?
 ・ Ceiling Fan के coil की binding से earning कितनी होती है ?


👤 Internal और External connections के examples पूरी details के साथ.

Internal का एक example

आप लोग अपने घर में electric bulb का use तो जरूर करते होंगे। इसका इस्तेमाल रात के अँधेरे में हमारे घर को उजाला करने के लिए किया जाता है। लेकिन इसका इस्तेमाल सिर्फ night में ही किया जाता है। दिन में इसे use करना बिजली की बर्बादी के साथ ही हमारे पैसे की भी बर्बादी माना जायेगा। हम बिजली energy का सदुपयोग कर सकें इसके लिए दिन में इन bulb के switch को off कर देते हैं जिससे कि वो दिन में काम नहीं करता है। 

लेकिन क्या आपने कभी ऐसा किया है कि रोजाना bulb को उसके holder से निकालकर उसे कहीं और लगाते हों? ऐसा बिल्कुल ही नहीं क्या जाता है। आमतौर पर हम किसी भी bulb को एक ही जगह पर स्थिर रूप से लगाकर छोड़ देते हैं और उसे on / off करने के लिए सिर्फ switch का use करते हैं जो कि खुद ही स्थिर होता है।

तो यहाँ कहने का तात्पर्य ये है कि bulb का connection एक तरह से internal होता है क्योंकि इसे एक ही बार में इसके गंतव्य स्थान पर लगा दिया जाता है और इसका connection सीधे ही हमारे electric board से किया हुआ होता है।

    हमारे ये post पढना न भूलें.
 ・ CFL bulbs और LED bulbs में कौन है सबसे best ?
 ・ Jobless लोग electronics के ये काम करके कर सकते हैं अच्छी earning
 ・ Original और  बिना guarranty वाले duplicate LED bulbs में से कौन सा खरीदें ?


Fan को internal माना जायेगा या external ?

आमतौर पर electric fan का use सभी घरों में होता है। लेकिन ये पंखे बहुत तरह के आते हैं। ज्यादातर घरों और office में ceiling fan का use किया जाता है। लेकिन इसके सिवाए भी कुछ और तरह के fan लोग use करते हैं। उनमें से stand fan सबसे ज्यादा use किया जाता है। चूंकि ये दोनों fan है तो जाहिर सी बात है कि दोनों का ही use हवा पाने के लिए किया जाता है। लेकिन इन दोनों के गुण और technical features में बहुत ही अंतर हैं।

एक ceiling fan को छत से लटका दिया जाता है और long time तक इसे ऐसे ही use किया जाता है। इसके connection को भी direct electric board से ही कर दिया जाता है जो कि fix हो जाता है। इसके स्थान का परिवर्तन तभी किया जाता है जब उस जगह से किसी और जगह पर इसकी ज्यादा जरूरत हो। तो ऐसे में इसके connection को internal कहा जा सकता है क्योंकि ये स्थिर connection होता है।

वहीँ यदि बात करें stand fan की तो ये स्थिर नहीं होता है। चूंकि इसका इस्तेमाल ground ( जमीन ) पर रखकर किया जाता है इसलिए इसका स्थान हमेशा ही बदलते रहता है। और इसलिए इसके connection को board में fix नहीं किया जाता है क्योंकि ये अलग-अलग room में भी इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर लोग ये fan खरीदते ही इसलिए हैं ताकि जब जहाँ जरूरत हो इसे लेकर आ-जा सकें। तो ऐसे में, इसका connection internal न होकर external कहा जायेगा क्योंकि इसका इसका न तो connection fix होता है और न ही इस्तेमाल करने की जगह।


External के examples

आप अपने घर के electric board के socket में लगाकर जिस भी उपकरण का इस्तेमाल करेंगे वो लगभग External ही माने जायेंगे क्योंकि ऐसे में आप उस उपकरण को किसी भी जगह पर और किसी भी board में बिना किसी परेशानी के इस्तेमाल कर पायेंगे। ऐसे उपकरण के एक नहीं बल्कि हजारों examples आपको मिल जायेंगे। मुख्यतः जिन external उपकरण का इस्तेमाल हमारे घरों में मुख्य रूप से किया जाता है उनमें से Television Set Top Box, Charger, Mixer, Fridge, Heater, Stand Fan इत्यादि है।

     हमारे इन posts को भी पढना न भूलें।
 ・ New Fan खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान।
 ・ कैसे इस गर्मी में दें अपने घर को best लुकिंग ?
 ・ पंखे से निकलते boring आवाज को कैसे दूर करें?
 ・ Local या duplicate charger से branded mobile क्यों नहीं charge करना चाहिए ?

तो दोस्तों, आपलोगों को हमारी ये जानकारी कैसी लगी हमें comment करके जरूर बताएं और यदि ये आपको अच्छी लगी हो तो please इसे social media पर अपने friends के साथ share जरूर करें। और ऐसे ही हमारे important posts की notification सीधे अपने Email ID पर पाने के लिए हमें Subscribe करना न भूलें।

4 comments

Bilkul aasan shabdo me aapne Bahut badhiya jankari diya Anand bhai...Aise hi post likhte rahiye.

धन्यवाद दिलीप भाई.


EmojiEmoji