Wiring में होने वाले top 10 common mistakes

Aluminium wires home electrical wiring in hindi

1) जगह और रूट का पहले से कर चयन न करना


आप जब भी wiring करें तो इसे शुरू करने से पहले इस बात का अच्छी तरह से फैसला कर लें कि आपको कहाँ पर किस चीज का इस्तेमाल करना आसान रहेगा और ज्यादा सुरक्षित होगा? मान लीजिये कि आपका एक ही रूम है और वो छोटा है तो आप गेट पर ही तो board को फिट नहीं कर देंगे न? इसलिए wiring का काम शुरू करने से पहले ही ये निश्चित कर लें कि कहाँ पर meter लगवाना है, कहाँ पर बोर्ड फिट किया जाना है और बोर्ड में कौन-कौन से componants लगे होने चाहिए?



सबसे बड़ी बात ये कि wire को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने के लिए किस रूट का उपयोग करें? मतलब कि कहाँ से और किस तरह से तार को फैलाएं ताकि कम-से-कम खपत भी हो और देखने में भी अच्छा लगे। और इसी तरह से इस बात का भी फैसला करें कि किस जगह पर बोर्ड को फिट किया जाये ताकि आपको सहूलियत हो।

2) सस्ते और घटिया क्वालिटी के सामानों का उपयोग करना 

घर के wiring बार-बार नहीं किये जाते हैं। इसलिए जब भी वायरिंग करवाएं या करें तो वो ऐसा होना चाहिए कि future में उससे आपको किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न आये। हालांकि, वायरिंग में प्रयोग होने वाले सारे componants बहुत ही महंगे होते हैं और 2 room की wiring करवाने में भी हजारों रूपये खर्च हो सकते हैं। इसलिए अधिकांश लोग थोड़े से रूपये बचाने के चक्कर में घटिया quality के ही सारे सामान खरीद लेते हैं जो कि समय से पहले ही खराब होने लगते हैं। 

सस्ते सामानों में अक्सर टूट-फूट की समस्या आ जाती है जिस वजह से घर का wiring असुरक्षित हो जाता है और इसमें बाहरी नुकसान का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए जब भी वायरिंग करवाएं तो इस बात का ख़ास ख्याल रखें कि उसमें इस्तेमाल किये जाने वाले सभी सामान किसी branded company के हों और मजबूत हों। हमारे यहाँ आमतौर पर Anchor और Havells के componants के उपयोग किये जाते हैं जो कि बेहद ही मजबूत और टिकाऊ माने जाते हैं और इनकी Life भी बेहतर होते हैं।

3) Best componants के उपयोग के बावजूद भी low quality के wires का इस्तेमाल करना 

हमारे घरों की Wiring में सभी तरफ से जमकर पैसे खर्च हो जाते हैं। लेकिन सबसे ज्यादा खर्च wiring के लिए wires पर ही हो जाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि बाकी सभी componants तो कहीं-कहीं पर ही इस्तेमाल होते हैं लेकिन wire के इस्तेमाल सभी जगह पर किये जाते हैं। साथ ही wire में महंगे धातु के इस्तेमाल भी किये जाते हैं जिस वजह से ये महंगे होते हैं। कहने का तात्पर्य ये है कि आपका घर जितना बड़ा होगा और आप जितने ज्यादा दूरी में कोई उपकरण इस्तेमाल करेंगे उतने ही ज्यादा लम्बाई के वायर की आपको जरूरत पड़ेगी।

दूसरी वजह ये है कि इतने लम्बे पूरे तार में Copper (कॉपर) या Aluminium (एल्युमीनियम) जैसे महंगे धातु का इस्तेमाल किये जाते हैं जिस वजह से ये बहुत ही महंगे हो जाते हैं और प्रति मीटर अच्छे क्वालिटी के copper के वायर की कीमत करीब 20 रूपये से भी ज्यादा पड़ जाते हैं। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि पैसे बचने के लिए कोई भी घटिया क्वालिटी के wires का इस्तेमाल wiring में कर दिया। यदि पहली बार में आप गलत वायर से वायरिंग करते हैं तो बाद में कोई भी दिक्कत आने पर लम्बा-चौड़ा खर्च लग सकता है। इसलिए पहली बार में ही अच्छे wire से wiring करें ताकि आगे चलकर उससे आपको कोई परेशानी न आये।

4) Copper के बजाये Aluminium के wires का इस्तेमाल करना

जब भी आप wiring करें तो सिर्फ-और-सिर्फ copper यानि कि ताम्बे के तार का ही इस्तेमाल करें। हालांकि ये एल्युमीनियम के तार की अपेक्षा 2-3 गुना तक महंगा हो सकता है लेकिन यकीन मानिए ये आपके लिए बहुत ही अच्छा विकल्प है। एल्युमीनियम के तार कॉपर के अपेक्षा कमजोर और ज्यादा लचीला होता है और 3-4 बार गाँठ पड़ने से टूट भी जाता है लेकिन कॉपर इतना कमजोर नहीं होता है। साथ ही ज्यादा समय हो जाने के बाद aluminium के वायर के छोर पर गंदगी जमा हो जाते हैं जिस वजह से वो सही से काम करना बंद कर देता है। लेकिन वहीँ यदि बात करें कॉपर के wire की तो इसमें ऐसा कोई बात नहीं है। कॉपर के तार बहुत लम्बे समय तक सुरक्षित रहते हैं और हमेशा ही सही से काम करते हैं।

5) Wiring में insulating tape का ज्यादा इस्तेमाल करना

वायरिंग के दौरान यदि एक bundle का wire बीच में ही ख़त्म हो जाता है या फिर किसी भी कारणवश जब wiring के बीच 2 तार को आपस में जोड़ना होता है तब तार को छीलकर उसे आपस में लपेट दिया जाता है और फिर उसके बाद उसके ऊपर टेप को अच्छे से लपेट दिया जाता है। लेकिन बहुत सारे लोग tape का सही से इस्तेमाल करना नहीं जानते हैं और गलत तरीके से उसका इस्तेमाल कर देते हैं।

electrical tape uses
Image Source :- Wekipedia


बहुत सारे लोग wire को आपस में लपेटने के समय ही ढीलापन छोड़ देते हैं जिस वजह से वहां से sparking होने लगता है और वो हिस्सा गर्म होकर जलने लगता है। इस वजह से कभी-कभी आग लगने की भी स्थिति बन जाती है। इसलिए पूरी कोशिश करें कि वायरिंग में टेप का इस्तेमाल कम-से-कम करना पड़े और जहाँ भी उसका इस्तेमाल हो तो बहुत ही मजबूती से हो और किसी भी तरह का कोई ढीलापन न हो।

6) बोर्ड में Fuse और Indicator का इस्तेमाल नहीं करना

Electric board में फ्यूज और इंडिकेटर का बहुत ही महत्त्व है। Fuse से wiring सुरक्षित रहता है और जरूरत पड़ने पर पूरे घर के बिजली सप्लाई को बंद भी किया जा सकता है। साथ ही Indicator के माध्यम से बिजली के उपस्थिति या अनुपस्थिति का तुरंत पता चल जाता है। साथ ही इनके और भी बहुत सारे फायदे हैं। इसलिए जब भी wiring करें अपने board में fuse और indicator का इस्तेमाल जरूर करें।

7) Wiring में cuircit breaker का इस्तेमाल न करना

अकसर हमारे साथ आपातकालीन घटना घटते रहते हैं। पता नहीं कब क्या हो जाए, इस बात की कोई गारंटी नहीं है। ऐसे कई मौके आते हैं जब wiring की कमजोरी या फिर हमारे ही छोटी सी गलतियों के वजह से हमें बिजली के झटके लग सकते हैं और हम प्रवाहित बिजली में चिपके रह सकते हैं। तो ऐसे आपातकालीन स्थितियों के लिए आप पहले से ही अपने घर के हरेक कमरे की wiring में एक ऑटोमेटिक सर्किट ब्रेकर जरूर लगवा लें।

इससे आपको फायदा ये होगा कि जब भी कभी ऐसे आपातकालीन समय आयेंगे तब ये ये ब्रेकर ज्यादा current प्रवाहित होने के वजह से खुद ही स्टार्ट हो जायेंगे और फिर वायरिंग का circuit ब्रेक हो जायेगा जिससे कि करंट का प्रवहन रूक जायेगा और पीड़ित लोग को कम नुकसान होगा और उचित इलाज मिलने के बाद वो जल्दी ही ठीक हो जायेगा।

• आखिर क्यों बार-बार हमारे mobile फ़ोन्स के battery होते हैं खराब?

8) मीटर के ठीक बाद एक Changer जरूर लगायें

वैसे तो उस तरह से वायरिंग करें ही नहीं जिससे कि बाद में उसकी मरम्मत करने की नौबत आये। लेकिन संयोगवश यदि ऐसी कोई नौबत आये या फिर किसी भी वजह से आपको वायरिंग में कुछ काम और करने पड़ जाएँ तो उस समय विद्युत् प्रवाहित वायरिंग के साथ काम करना सही नहीं होगा। इसके लिए आपको सबसे पहले बिजली के पोल पर जाकर अपने कनेक्शन wire को उतरना पड़ेगा जिससे कि आपके घर में supply आना बंद हो जाये और आप बेहिचक मरम्मत का काम कर सकें।

लेकिन ये प्रक्रिया बहुत ही कठिन और खतरनाक है। इसलिए इलेक्ट्रॉनिक्स में इस समस्या को देखते हुए Changer का निर्माण किया गया है। Unit meter से निकले दोनों तार को इस चेंजर से जोड़ा जाता है और फिर इसी चेंजर के दूसरे भाग से output निकाला जाता है जिसका wiring में इस्तेमाल किया जाता है। इसका काम ये होता है कि जब इसे ऑफ किया जाता है तब ये विद्युत् के प्रवाहन को रोक देता है जिससे कि आप बेफिक्र होकर वायरिंग में जो चाहें बदलाव कर सकते हैं।

9) Wiring में भू-तार का connection नहीं करवाना

बहुत सारे उपकरण ऐसे होते हैं जिसके cabinet (उपरी आवरण) पर shorting या फिर कनेक्शन वायर के टूट जाने के वजह से बिजली के झटके आने लग जाते हैं। ऐसी हालत में यदि इन उपकरणों को सप्लाई देकर छू लिया जाए तो इससे झटके लगने से शारीरिक नुकसान भी पहुँच सकते हैं। इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए ऐसे सारे उपकरणों में ही एक विकल्प दिए हुए होते हैं जिसे भू-तार के नाम से जाना जाता है। ये क्या है और ये किस तरह से हमारी रक्षा करता है इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानने के लिए हमारा ये पोस्ट जरूर पढ़ें.....

• जानिये, Wiring ( वायरिंग ) में भू-तार किस तरह से हमारी सुरक्षा करता है?

10) बिजली बोर्ड में एक ही 5-pin या 2-pin socket लगवाना

पहले हमारे जरूरत बहुत ही कम हुआ करते थे। लेकिन अब हमारे जरूरत असीमित हो गए हैं। हमलोग टीवी तो रूम में देखते ही हैं लेकिन साथ-ही-साथ इससे भी ज्यादा उपकरणों का इस्तेमाल एक साथ करते हैं। तो ऐसे में यदि हमारे board में इन सभी के plug को लगाने के लिए उचित संख्या में सॉकेट न हों तो इसके लिए आपको अलग से एक एक्सटेंशन बोर्ड खरीदना पड़ सकता है। लेकिन आपके बोर्ड में ही इतने जगह खाली रहते हैं कि आप उसी में 3-4 सॉकेट और लगवा सकते हैं और ये एक्सटेंशन बोर्ड से भी ज्यादा अच्छा विकल्प होगा। इसीलिए वायरिंग कराते वक़्त ही इन छोटे-मोटे बातों का ध्यान जरूर रखें ताकि बाद में ज्यादा खर्चे से बच सकें।

आज का हमारा ये पोस्ट आपको कैसा लगा comment करके हमें जरूर बताएं और पसंद आने पर इसे Like ( लाईक ) और Share ( शेयर ) करना न भूलें। और ऐसे ही उपयोगी पोस्ट की जानकारी सीधे अपने ईमेल अकाउंट पर पाने के लिए हमें Subscribe ( सब्सक्राइब ) जरूर कर लें।

Tags: Home electrical wiring in hindi
Earthing kya hai
Cable kitne prakar ka hota hai
Wiring definition
Electrical wiring diagrams
Types of electrical wiring
House wiring basics
How to do house wiring
House wiring guide


EmojiEmoji